missing-from-Government-Hospital
Crime Latest News

सरकारी अस्पताल से ८१ वर्षीय गुमशुदा मरीज मिले, पुलिस ने किया बेटी के हवाले

भायंदर – भायंदर के सरकारी भारत रत्न पंडित भीमसेन जोशी (टेम्भा) अस्पताल से लापता 81 वर्षीय बुजुर्ग मरीज सोमवार और मंगलवार की दरमियानी रात को भायंदर पूर्व इलाके से खोज निकाला गया। मीरा रोड के सृष्टि इलाके में रहने वाली काकुली मित्रा ने अपने पिता बद्रीनाथ नाग (81) को सांस लेने में दिक्कत होने पर रविवार रात भायंदर के टेम्भा अस्पताल में भर्ती कराया था। नाग को आईसीयू में रखा गया था.

काकुली रात भर अपने पिता के साथ थी और सुबह ६:३० बजे अपने घर गयी। दोपहर 12 बजे जब काकुली वापस अस्पताल गई तो उसके पिता अस्पताल से ICU वार्ड से गायब मिले। जब मित्रा ने इन्क्वारी की तो पता चला की उन्हें जनरल वार्ड में शिफ्ट किया गया है। जब जनरल वार्ड में काकुली पहुंची तो पिता बद्रीनाथ नजर नहीं आए। सरकारी अस्पताल में मरीजों के रख-रखाव और सुरक्षा की जिम्मेदारी प्रशासन और कर्मचारियों की है, फिर भी इससे उनकी घोर लापरवाही उजागर हुई है। सुबह बद्रीनाथ को वार्ड में लाया गया। सीसीटीवी में बद्रीनाथ को करीब 12:30 बजे अस्पताल से निकलते देखा गया। दरअसल मरीज को आईसीयू से जनरल वार्ड में शिफ्ट करते समय परिजनों की मौजूदगी में शिफ्ट किया जाना चाहिए था लेकिन इसका भी पालन नहीं किया गया।

मनसे का हक्ताक्षेप

जब काकुली को अस्पताल में पिताजी नहीं मिले तो वह पूछताछ करने लगी लेकिन अस्पताल कोई रिस्पांस नहीं कर रहा था और उनका रवैया भी ठीक नहीं था। थक हार कर काकुली मनसे प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की। मनसे के हक्ताक्षेप के बाद अस्पताल प्रशासन हरकत में आया। वहीँ खबर मिलते ही मीडिया का जमावड़ा भी लग गया चूंकि बद्रीनाथ नाग वृद्ध और बीमार थे, इसलिए उनके लापता होने की चिंता थी।

नाग की तस्वीर शहर के सभी पुलिस स्टेशनों के साथ-साथ व्हाट्सएप ग्रुप और अन्य स्थानों पर साझा की गई थी। आधी रात के आसपास, बद्रीनाथ को भायंदर पूर्व के नवघर रोड पर कस्तूरी पार्क एरिया में देखा गया। नागरिकों ने नवघर पुलिस को सूचना दी तो पुलिस उन्हें लेकर आई और भाईंदर पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने लड़की काकुली को बुलाया और रात करीब ढाई बजे नाग को उनके हवाले कर दिया। एमएनएस ने दोषी कर्मचारियों और अधिकारियों को निलंबित करने की मांग की है. वहीँ इस घटना से सरकारी अस्पताल में सुरक्षा व्यवस्था और सीसीटीवी सर्विलांस की पोल खुल गयी है।

मुगुट पाटील, वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक, भायंदर पुलिस स्टेशन ने न्यूज़ कन्फर्म करते हुए कहा कि, सोमवार को एक गुमशुदगी की रिपोर्ट गुमशुदा क्रमांक 50/23, बद्रीनाथ नाग की उनकी पुत्री काकुली मित्रा द्वारा दर्ज कराई गयी थी। हमने वह ८१ बुजुर्ग को खोज निकाला और उनकी लड़की के हवाले कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *